Food

ये मसाले आपको रखेंगे बीमारियों से दूर

Written by News Bureau

अपनी निजी ज़िंदगी में हम सभी हमेशा किसी न किसी रोग से हमेशा पीड़ित रहते हैं चाहे वह कब्ज़, भूख न लगना, अस्थमा या हृदय से संबंधित बीमारी ही क्यों न हो। इन बीमारियों को ठीक करने के लिए हमें अच्छे खासे पैसे भी खर्च करने पड़ते हैं मगर उससे भी कोई फर्क नहीं पड़ता। इसलिए हम आपको बताना चाहेंगे कि हमारे किचन में भी कुछ ऐसी सामग्रियां सदैव विद्यमान रहती हैं, जो दवाइयों को भी फेल कर सकती हैं।

किचन में रखे मसाले न केवल भोजन को स्वादिष्ट बनाने के काम में आते हैं अपितु ये स्वास्थ्य के लिए भी कहीं बेहतर माने जाते हैं। जो हमारे शरीर को अनेक बीमारियों से बचाते हुए राहत प्रदान करते हैं।

अदरक :  पेन किलर के रूप में अदरक जो एक तीव्र खुशबू एवं स्वाद वाला होता है अधिकांशत: पेय पदार्थ में मिलाकर अमल में लाया जाता है। अदरक अपने एंटीबायोटिक गुणों के कारण ही सर्दी, खांसी, जुकाम, नज़ला और बुखार जैसी सामान्य बीमारियों के लिए रामबाण है। इसके अलावा सांस और पाचन संबंधी बीमारियों के साथ-साथ मोटापे, हृदय रोग, जोड़ों में होने वाले दर्द, सर्दी, खांसी और जुकाम में भी राहत प्रदान करता है।

हल्दी : धार्मिक कार्यों में काम आने वाली हल्दी जितनी शरीर के लिए फायदेमंद होती है उतनी ही त्वचा के लिए भी। यह प्राय: सौंदर्य बढ़ाने के लिए अमल में लाई जाती है। आर्थराइटिस, हार्ट बर्न, पेट में कीड़े, पेट दर्द, सिरदर्द, दांत का दर्द, डिप्रेशन, फेफड़ों के इंफेक्शन, ब्रांकायटिस आदि रोगों में भी यह एक चमत्कारी दवा के रूप में प्रयोग की जाती है.

लहसुन: मसाले के रूप में लहसुन प्राकृतिक रूप से दर्द और सूजन को बड़ी तेज़ी के साथ कम करता है।

लौंग : लौंग में एंटीबायोटिक, एंटी-सेप्टिक, एंटी-माइक्रोबियल, एंटी-फंगल और एंटी-वायरल आदि सभी गुण हैं जो अलग-अलग परेशानियों जैसे दांत दर्द, सिरदर्द और अस्थमा इत्यादि बीमारियों से बचाए रखते हैं। इतना ही नहीं, हमारे खून में मौजूद अशुद्धियों को दूर करने और पांच तंत्र को दुरुस्त करने में भी काफी कारगर है। दांत दर्द से बचने के लिए लौंग के तेल का इस्तेमाल अक्सर लोगों द्वारा किया जाता है।

अजवाइन: अजवाइन सदैव सुगंध और शरीर को स्वस्थ बनाए रखने में अव्वल है। इसमें मौजूद एंटी-आक्सीडेंट दिमाग के लिए किसी औषधि से कमतर नहीं है। अत: भूख व पाचन शक्ति में वृद्धि करते हुए यह पेट संबंधी अनेक रोग जैसे गैस, अपच, कब्ज़ आदि को दूर करने में बहुत लाभप्रद है। अजवाइन डायबिटीज रोगियों को फंगल इंफेक्शन से भी बचाती है।

धनिया: साबुत धनिये से ब्लड शुगर को कंट्रोल करने की अद्भुत क्षमता होती है। इसके बीज में एंटी-आक्सीडेंट, मिनरल, विटामिन ए, सी और आयरन होता है, जोकि अनीमिया की समस्या से छुटकारा दिलाने, कैंसर जैसे भयावह रोग से लड़ने में काफी मददगार है।

मेथी : स्वाद और सौंदर्य बढ़ाने में सर्वश्रेष्ठ मेथी का उपयोग कौंसर रोधक तत्त्व के कारण डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर और पेट संबंधी समस्या के निदान हेतु किया जाता है।

About the author

News Bureau

Leave a Comment