Bless Lifestyle

धूल और प्रदूषण का असर ऐसे हो सकता है कम …

Written by News Bureau

एयर पलूशन के साइड इफेक्ट से मास्क और एयर प्योरिफायर कितना बचा बाते हैं इस बात को लेकर डॉक्टर्स में भी असमंजस है। हालांकि यह प्रदूषण सेहत के लिए बेहद खतरनाक है इसमें कोई दो राय नहीं। ऐसे में आयुर्वेद एक्सपर्ट के बताए हुए ये आसान उपचार अपनाकर आप खुद को और अपने परिवार को सुरक्षित रख सकते  है…

प्रदूषण को अवशोषित करने के लिए हर घर में तुलसी का पौधा होना चाहिए। साथ ही रोजाना 10-15 एमएल तुलसी का जूस भी पीना चाहिए, ये आपकी सांस नली से पलूटेंट्स हटाता है।

हल्दी है गुणकारी
घी या शहद के साथ एक चम्मच हल्दी का पाउडर लें, ध्यान रखें ये काम खाली पेट करें।

नीम करेगा रक्त शुद्ध
नहाने के पानी में नीम उबालकर इससे त्वचा और बाल अच्छी तरह धोएं। ये त्वचा की परत में जमे प्रदूषकों को हटाता है। अगर संभव हो तो हफ्ते में दो-तीन नीम की पत्तियां खा लें। इससे रक्त शुद्ध होता है।

रोजाना खाएं घी
रोजाना सुबह या सोते वक्त नाक के दोनों नथुनों में दो बूंद गाय का घी डालें जिससे हानिकारक तत्व आपके फेफड़ों में नहीं पहुंचेंगे। डॉक्टर कोचर बताते हैं कि रोजाना दो से तीन चम्मच घर का बना घी खाना जरूरी है। इससे लेड और मर्क्युरी जैसे तत्व आपके लिवर और किडनी में जमा नहीं होते।

अदरक हमेशा रखें साथ
अदरक से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और ये सांस से जुड़ी हुई समस्याओं में फायदेमंद होता है। जब आप ऐसी जगह पर होते हैं जहां प्रदूषण ज्यादा होता है तो अदरक साथ रखें। आप इसे सलाद के साथ कद्दूकस करके या चाय में डालकर भी ले सकते हैं, लेकिन ज्यादा अदरक न लें इसके साइड इफेक्ट हो सकते हैं।

About the author

News Bureau