Bless Religion

लाखों मुस्लमानों ने अदा की अलविदा जुम्मे की नमाज

Written by News Bureau

रमजान शरीफ का महीना अल्लाह ताआला से इश्क और मोहब्बत का महीना : शाही इमाम पंजाब

लुधियाना : आज पवित्र रमजान शरीफ के अलविदा जुम्मा के मौके पर फील्डगंज चौंक स्थित ऐतिहासिक जामा मस्जिद में हजारों मुस्लमानों ने नमाज अदा की। नमाजियों की संख्या को देखते हुए शाहपुर रोड व जेल रोड पर नमाज के लिए विशेष प्रबंध किए गए थे। इस मौके पर संबोधित करते हुए पंजाब के शाही इमाम मौलाना हबीब उर रहमान सानी लुधियानवी ने कहा कि रमजान शरीफ का महीना अल्लाह ताआला से इश्क और मोहब्बत का महीना है। इस मुबारक महीने में बंदा खुदा और उसके रसूल सल्ललाहु अलैहीवसल्लम से अपने इश्क का इकाहार करते हुए गुनाहों से तौबा करता है। शाही इमाम मौलाना हबीब ने कहा कि रमजान के आठ रोजे अभी बाकी है, हमें चाहिए कि इस वक्त की खूब कद्र करे और ज्यादा से ज्यादा इबादत में लगे रहे। खुले दिल से गरीबों की मदद करें। आपसी रंजिशों को खत्म करके एक-दूसरे से मोहब्बत का इकाहार करे। वर्णनयोग है कि आज पवित्र रमजान शरीफ का आखिरी जुम्मा था। शहर की सभी मस्जिदों में लाखों की संख्या में नामाजी एकत्रित हुए। नायब शाही इमाम मौलाना उसमान रहमानी लुधियानवी ने बताया कि शहर में 5 लाख से ज्यादा मुस्लमानों नें अलविदा जुम्मे की नमाज अदा की।
15 को भी हो सकती है दोबारा आखिरी जुम्मे की नमाज : नायब शाही इमाम मौलाना मुहम्मद उसमान रहमानी लुधियानवीं ने बताया कि 14 जून को ईद का चांद देखना है, अगर चांद नजर नहीं आता है तो 15 जून को तीसवां रोजा होगा और रमजान का आखिरी जुम्मा दोबारा अदा करने का मौका मिल सकता है।

About the author

News Bureau

Leave a Comment